Skip to main content

Posts

Showing posts from April, 2020

Essay about Sri Lanka Economic Crisis

  Essay about Sri Lanka Economic Crisis On March 31st hundreds of protesters gathered outside Sri Lankan president Gotabaya Rajpaksha's residence in Colombo.  Many in the crowd were holding posters with anti-government slogans and were chanting gotta go home in sinhala  The protesters demanded that the government stepped down immediately for mishandling the country's economy  a day after president raja paksha declared a state of emergency  Sri Lanka is witnessing its worst economic crisis since independence, the island nation had announced a nationwide 13-hour daily powercut from March 31st  there is an acute shortage of food, fuel, and cooking gas.  Several hospitals have had to suspend routine surgeries as they have run out of life-saving medicines authorities had to cancel examinations for millions of students due to a shortage of paper  During the first wave of the pandemic, thousands of Sri Lankan laborers working in several West Asian countries were forced to return home 

Why do We Celebrate Ramnavami

रामनवमी मनाने के पीछे क्या है इतिहास हिन्दू धर्म में रामनवमी का विशेष महत्व है । कहा जाता है कि इस दिन भगवान राम का जन्म हुआ था । रामनवमी के दिन ही चैत्र नवरात्र की समाप्ति होती है । इस दिन मां दुर्गा और भगवान राम की विधि विधान से पूजा अर्चना की जाती है ।  तो चलिए जानते हैं रामनवमी पर्व का पौराणिक महत्व है,  रामनवमी का त्यौहार बेहद ही खास होता है क्योंकि इस दिन धरती से पाप का अंत करणी और आदर्श राज्य की परिकल्पना को सच में बदलने के लिए भगवान श्रीराम ने छिन लिया था ।  इस दिन की महिमा इतनी खासे कि अगर रामनवमी के दिन भगवान श्रीराम का स्मरण और विधिविधान से पूजा पाठ की जाए तो सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं ।  पौराणिक कथा हिन्दू धर्मशास्त्रों के अनुसार त्रेता युग में धरती से अत्याचारों को खत्म करने और धर्म की फिर से स्थापना के लिए भगवान विष्णु ने मृत्युलोक में श्रीराम के रूप में अवतार लिया । भगवान राम का जन्म चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष की नवमी के दिन पुनर्वसु नक्षत्र में और कर्क लग्न में अयोध्या में राजा दशरथ के घर हुआ ।  उनकी माता का नाम कौशल्या था ।  भगवान र